कई शौचालय पूर्व में होने के वावजूद सी एच सी दुद्धी में कराया जा रहा शौचालय का निर्माण – परिसर में सार्वजनिक शौचालय से लेकर वार्डो में शौचालयों की भरमार –

कई शौचालय पूर्व में होने के वावजूद सी एच सी दुद्धी में कराया जा रहा शौचालय का निर्माण – परिसर में

 सार्वजनिक शौचालय से लेकर वार्डो में शौचालयों की भरमार – डायलिसिस,एम आई, अल्ट्रासाउंड, डी जी टल एक्स-रे सहित आईपीडी बेड विस्तार आदि का मामला पहले से हैं लंबित –

उपेंद्र कुमार तिवारी दुद्धी सोनभद्र 

दुद्धी सोनभद्र तहसील अंतर्गत सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र परिसर दुद्धी में ब्लड बैंक के पीछे सामुदायिक शौचालय महिला व पुरुष कई लाख रूपये कि लागत से दर्जनों बनकर कर्मचारियों के अभाव में उपेक्षा का शिकार है l ओपीडी भवन में भी मरीज के लिए सार्वजनिक महिला पुरुष शौचालय पूर्व से है l चिकित्सा कक्ष में भी सभी निजी शौचालय उपेक्षित और दुर्व्यवस्था का शिकार है l अंतरंग विभाग में प्रथम तल एवं द्वितीय तल में आईपीडी ( मरीज भर्ती ) वार्डों में पहले से दर्जनों शौचालय मरीजों के लिए उपयोग में चलायमान हैं l बावजूद इसके पुनः शौचालय का निर्माण कराये जाने कि बात सूत्र बता रहें, जिसका निर्माण कार्य चल रहा है l माननीय विधायक राम दुलारे गौंड द्वारा आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र से जुड़े सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मरीजों के भर्ती के लिए बेड बढ़ाये जाने कि मांग जनहित में कि गई हैं जो अभी स्थान के आभाव में लंबित हैं l डायलिसिस सेंटर के लिए भी जमीन के अभाव में कार्य नहीं हो पाया l जिसका निरीक्षण हंस फाउंडेशन कम्पनी की टीम भी कर चुकी है l जिसको जमीन के अभाव में कार्य निर्माण का नहीं संपादित हो पा रहा है l बावजूद इसके पुनः वार्ड अंतरंग विभाग से सटे सार्वजनिक शौचालय का निर्माण जहाँ गर्भवती महिला जच्चा बच्चा वार्ड, ऊपरी तल पर कुपोषित बच्चों हेतु केयर के लिए एन आर सी वार्ड, गंभीर बीमारी से ग्रसित भर्ती मरीजों के वार्ड (भवन ) से सटे शौचालय का निर्माण किया जाना मरीजों, बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं आदि के लिए संक्रमण को दावत देने जैसा होगा l वैसे बदलते परिवेश में अस्पताल विस्तार के लिए अन्य भवनों के निर्माण में पहले से जमीन की कमियों से जूझ रहा हैं समुदायिक केन्द्र दुद्धी l

निर्माणाधीन शौचालय सी एच सी दुद्धी

अस्पताल में 21 वीं सदी में ना अल्ट्रासाउंड की कोई व्यवस्था हैं और ना हीं पूर्ण जांच सी बी सी,एम आई,आदि महत्वपूर्ण जांच अस्पताल में नहीं हो पा रहा है l सीबीसी जांच अस्पताल में नाम मात्र के लिए की जा रही शेष बाहर से कराई जा रहीं, कई जांच अस्पताल में मौजूद होने के वावजूद बाहरी जांच लिखा जाता हैं,और ऊपरी कमाई सूत्रों की माने तो सिण्डिकेट के माध्यम से कमाई की जा रहीं और आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र के गरीब मरीज का आर्थिक शोषण हो रहा है l सफाई कर्मचारियों से लेकर कई महत्वपूर्ण स्टॉफ की कमी से अस्पताल जूझ रहा हैं l महिला रोग विशेषज्ञ डॉक्टर इंदु की नवीन नियुक्ति हुई है और यहां ज्वाइन भी किया गया है परन्तु अभी ड्यूटी पर आगमन कतिपय कारणोंवश नहीं हो पाया हैं इसी प्रकार हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉक्टर राजेश की नवीन तैनाती हुई है और वह अपने कार्य को अंजाम दे रहे हैं l परंतु डिजिटल एक्स-रे एवं ऑपरेशन थिएटर का सीएससी में उपलब्धता कराना होगा जिससे ड्रामा के केस में त्वरित लाभ मरीजों को मिल सके l पैथोलॉजी चिकित्सक डॉक्टर वरुण की भी तैनाती हुई है और वह अपना कार्य कर रहे हैं l परंतु अस्पताल का मैनेजमेंट को मानो ठंड मर गई है l

कई लाख की लागत से बना पूर्व का शौचालय

सामुदायिक शौचालय निर्माण के मामले में अस्पताल का पक्ष मिडिया द्वारा जानना चाहा तो अधीक्षक का फोन अज्ञात कारणोंवश रिसीव नहीं हुआ l मुख्य चिकित्सा अधिकारी महोदय सोनभद्र संज्ञान लें और आवश्यक कार्रवाई जनहित में करें | और आदिवासीय बाहुल्य क्षेत्र के एकमात्र सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र दुद्धी का कायाकल्प प्रत्येक फैकेल्टी में कराकर मरीज को सरकार द्वारा प्रदत्त बेहतर उपचार मुहैया कराया जा सके जिससे प्राणों की रक्षा गुणवत्ता परक मरीजों की हो सके l

Sharing Is Caring:

Leave a Comment

error: Content is protected !!